CID और CBI में क्या अंतर है – CID and CBI Difference in Hindi

CID and CBI Difference

CID and CBI Difference in Hindi – आये दिन आप देखते रहते होंगे CID सीरियल एवं CBI की मूवीज और इसका आप आनंद उठाते है, लेकिन क्या आपको पता है की CID और CBI में क्या अंतर होता है सीआईडी एवं सीबीआई ऑफिसर का क्या काम होता है क्या यह अलग अलग पोस्ट होती है इन्ही सवालों के जवाव आपको इस लेख में मिल जाएंगे।

यह भारत देश की सबसे अहम् पद है जिसको पाना आसान नहीं हर साल लाखो विद्यार्थी इन पदों पर उम्मीदवार होते है लेकिन कुछ ही विद्यार्थी होते है जो कड़ी मेहनत के अपना जीवन सफल बना लेते है।

यदि आप भारतीय मूवी या सीरियल देखने में रूचि रखते है तब आपको यह अवश्य पता होगा की CID का क्या काम होता हैं एवं CBI का क्या काम होता है, क्यूंकि भारतीय सीरियल कुछ ऐसे जो इन्ही पदों पर बने हुए है।

यदि आप CID and CBI Difference in Hindi एवं CID Full Form और CBI फुल फॉर्म देखते हुए इस लेख तक आ पहुंचे तब आप सही जगह यही हम आपको निराश नही होने देंगे क्यूंकि यहाँ आपको CID और CBI में क्या अंतर है, यही जानकारी स्पष्ट करने जा रहे है, यदि आप इन दोनों पदों में रूचि रखते है तब यह आपके लिए महत्वपूर्ण होते हो सकती है।

CID and CBI Difference

भारत मे 2 ऐसी जांच Investigation agency बनायीं गयी हैं जो कुछ ख़ास Criminal मामलो को सुलझाने का काम करती हैं, ये जांच Investigation  agency हैं, CBI और सीआईडी, इन दोनों का ही काम अलग अलग क्षेत्र में एक ही होता है परन्तु इनके काम करने के दायरों मे फर्क हैं कहने का मतलब यह है Criminal और अपराधियों को सबक सिखाना इन दोनों पदों का काम होता है।

CID and CBI Difference in Hindi जानकारी के लिए इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़े नीचे हम आपको एक एक करके CID और CBI के बारे में अंतर स्पष्ट कराने जा रहे है।

CID क्या है ? 

सीआईडी का Full Form, ‘क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट’ (Crime Investigation Department) का संक्षिप्त नाम है। इसको हिंदी में अपराध जांच विभाग कहते है, CID की स्थापना ब्रिटिश सरकार द्वारा 1902 में पुलिस आयोग की सिफारिश पर देश में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए गठित किया गया था। यह भारतीय राज्य पुलिस की एक जांच और खुफिया शाखा है। CID राज्य में किसी भी जगह पर जो भी दंगे, होते है या हत्या, अपहरण, चोरी के मामले होते हैं उनकी जांच करने का काम CID विभाग ही करता है।

CID, पुलिस संगठन की सबसे महत्वपूर्ण एजेंसियों में से एक है, जो भारत सरकार द्वारा नियंत्रित किया जाता है। CID का विभाग आमतौर पर खुफिया रूप से कार्य करता है, और इस खुफिया विभाग में काम करने वाले लगभग सभी सदस्य कोई विशेष Uniform ना पहन कर सामान्य वस्त्रों में ही रहते हैं।

जिसके कारण अपराधी को यह नहीं मालूम पढता है की यह कौन है, सामान्य वस्त्रों के कारण यह Criminal को आसानी से जांच पड़ताल करने के बाद पकड़ लेते है। इस फील्ड में कार्यरत व्यक्ति को डीजीपी (पुलिस महानिदेशक) के द्वारा कुछ आपराधिक मामलों जैसे कि हत्या केस, डकैती, धोखाधड़ी, यौन संबंधित, बैंक आपराधिक मामले, वैज्ञानिक अनुसंधान केंद्र आपराधिक मामले, लापता व्यक्ति ब्यौरों आदि की जांच की जिम्मेदारी दी जाती है।

चलिए अब जानते है की अब जानते है की इनका क्या कार्य होता है।

सीआईडी ऑफिसर के कार्य

हमने आपको पहले भी बताया की यदि आप CID जो भारतीय ड्रामा में एक महत्वपूर्ण और अच्छा ड्रामा है, जिसे देखने से आपको यह मालूम हो सकता है की CID अपना कार्य कैसे करते है और उनके क्या कार्य होते हैं, लेकिन वह एक सीरियल है जिसमे आपको काफी चीज़े अनरभित भी दिखाई जाती है।

इसलिए यहाँ हम आपको CID (Crime Investigation Department) के कुछ महत्वपूर्ण कार्य बताने जा रहे है।

  • CID का मुख्य कार्य बलात्कार, हत्या, चोरी, डकैती आदि आपराधिक मामलों की जांच करना है।
  • इस पद पर चयनित व्यक्ति को गुप्त तरीके से आपराधिक मामलों की जांच करने की जिम्मेदारी दी जाती है।
  • पुलिस विभाग की सहायता करना इस विभाग का सबसे महत्वपूर्ण कार्य होता है।
  • अंततः अभियुक्त को अदालत के भीतर सबूत के साथ प्रस्तुत करता है।

CBI क्या है ? 

CBI भारत की प्रमुख जांच एजेंसी है, जिसका फुल फॉर्म Central Bureau of Investigation होता है, इसको हिंदी में केन्द्रीय जांच एजेंसी & केन्द्रीय जांच ब्यूरो कहते है, CBI भारत की सबसे बड़ी Investigation Agency है। आपको बता दे की यह भारत सरकार के कार्मिक, पेंशन तथा लोक शिकायत मंत्रालय के कार्मिक विभाग [जो प्रधानमंत्री कार्यालय (Prime Minister’s Office-PMO) के अंतर्गत आता है] के अधीक्षण में कार्य करता है।

केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो यानि Central Bureau of Investigation की स्थापना सन 1941 में हुआ परन्तु तब इसका कार्य भ्रष्टाचार और घूसखोरी के मामलों की जाँच करना था, इस एजेंसी को केन्‍द्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो का नाम सन 1963 में मिला। CBI एक बहुत अच्छी जानी मानी केन्द्रीय जांच एजेंसी है. इस एजेंसी का हर एक कर्मचारी बहुत ही ईमानदारी और जिम्मेदारी के साथ काम करता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें की यह भारत की Nodal Police Agency भी है जो इंटरपोल की ओर से इसके सदस्य देशों में अन्वेषण संबंधी समन्वय करती है, CBI का हेड क्वार्टर भारत के राजधानी न्यू दिल्ली में स्थित है, अभी के समय में इसके डायरेक्टर ऋषि कुमार शुक्ला है।

चलिए अब जानते है की CBI के क्या क्या कार्य होते है।

सीबीआइ ऑफिसर के कार्य 

CBI के द्वारा किए जाने वाले कार्य हम आपको नीचे बताने जा रहे है, यह CID से संबंधित कार्य है लेकिन उसको करने के ढंग अलग अलग है।

  • सीबीआई में प्रमुख्य केंद्र सरकार, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, भारत सरकार के स्वामित्व व नियंत्रण वाले निगमों या निकायों के लोक अधिकारियों व कर्मचारियों के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत दर्ज मामले को देखा जाता है।
  • इसी के साथ साथ राज्य सरकारों के निवेदन पर या उच्चतम न्यायालय एवं उच्च न्यायालयों के निर्देश पर भारतीय दंड संहिता एवं अन्य कानून के अंतर्गत दर्ज गंभीर, सनसनीखेज एवं संगठित अपराध, जैसे-आतंकवाद, बम विस्फोट, फिरौती के लिये अपहरण और माफिया/अंडरवर्ल्ड द्वारा किये गए अपराध को देखना।

CID और CBI Full Form in Hindi 

CID Ka Full Form Crime Investigation Department
CBI Ka Full Form Central Bureau of Investigation

CID और CBI का वेतन में अंतर

यहां हम आपको CID एवं CBI का वेतन कितना होता है एवं इसमें क्या अंतर क्या इन पदों का वेतन समान होता है, यह सभी जानकारी आप नीचे पा सकते है।

CID Salary : CID में कई विभाग होते हैं। हर विभाग का वेतन अलग-अलग है। एक सीआईडी अधिकारी का औसत वेतन शुरू में रु। 170,000 से रु। प्रति वर्ष 200,000 तक हो सकता है। यह वेतन उम्मीदवार के अनुभव और स्तर के आधार पर बढ़ता रहता है। औसत वेतन रु। एक सीआईडी अधिकारी के वरिष्ठ स्तर पर। 700,000 से रु। प्रति वर्ष 11,00,000 तक हो सकता है।

CBI Salary : सब इंस्पेक्टर या CBI Officer Ki Salary पे स्केल के हिसाब 9300-34800 रूपये है जबकि 4200 रूपये का ग्रेड पे और अन्य भत्ते मिलते है। वर्तमान वेतनमान के अनुसार, आपको शुरू में लगभग 40,000 ₹/- का वेतन मिलेगा (पोस्टिंग के स्थान के अनुसार वेतन थोड़ा भिन्न हो सकता है)।

CID एवं CBI में मुख्य अंतर क्या है ?

हमने आपको इस पृष्ठ में सम्पूर्ण रूप से एक एक करके CID और CBI के पदों के बारे में बताया, आप इन्ही से इनमे अंतर समझ सकते लेकिन कुछ मुख्य अंतर है जिन्हे हम आपको नीचे स्पष्ट करने जा रहे है।

  • CID किसी भी जगह राज्य में घटना होने वाले अपराधों की जांच करती है जबकि CBI नेशनल और इंटरनेशनल लेवल के क्राइम की जांच करती है।
  • CID के अंतर्गत राज्य के जितने भी दंगे एवं घटनाएं आती है वह उसी राज्य के हाई कोर्ट द्वारा सौंपा दिया जाता है, वहीँ यदि CBI की बात करे तो केंद्र सरकार एवं हाई कोर्ट के साथ साथ सुप्रीम कोर्ट के द्वारा सौंपा दिए जाते है।
  • CBI अन्य राज्यों में भी अपनी जांच कर सकती है मतलब की पूरे देश में वह अपने कार्य की जांच कर सकती है, वहीँ यदि CID की बात करे तो वह सिर्फ जो राज्य उनको सौंपा जाता है उसी में जांच पड़ताल कर सकते है।
  • CID की स्थापना ब्रिटिश सरकार द्वारा 1902 में की गयी थी वहीँ यदि हम CBI की बात करे तो इसकी स्थापना 1941 में विशेष पुलिस प्रतिष्ठान के रूप में की गयी थी।
  • CID उम्मीदवार को इसमें सफल होने के लिए पहले पुलिस भर्ती को पाना होता है तब जाकर वह एक CID Officer बन पाता है और CBI के लिए SSC बोर्ड द्वारा परीक्षा आयोजित की जाती है।

अंतिम शब्द : 

प्रिय पाठको आज के इस पृष्ठ में हमने आपको CID और CBI में अंतर एवं CID and CBI Full Form Hindi आदि के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रस्तुत की है। हम आशा करते है की आपको यह लेख पढ़कर किसी और वेबसाइट पर जाने की जरूरत नहीं है, यदि आपके लिए यह महत्वपूर्ण रही तब सोशल मीडिया पर भी अवश्य शेयर करे।

हम आशा करते है यह लेख की जानकारी आपके लिए काफी महत्वपूर्ण रही होगी, यदि आप किसी अन्य पद एवं किसी का भी Full Form पाना चाहते है जानकारी के साथ तब हमें कमेंट में बता सकते है, हम विस्तार से इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रस्तुत करेंगे, यदि आपका इस लेख से संबंधित कोई सवाल है तब हमे बता सकते है।

यह भी देखे : RIP Full Form in Hindi – रिप फुल फॉर्म क्या होता है ?

यह भी देखे : NRC का फुल फॉर्म क्या है – NRC Full Form in Hindi & English

Leave a Comment